बेगानी रूह! एक बेगानी प्रेम कथा 4 months ago

Horror 3 Chapter Created 26 Reads 0 Likes

प्रेम कहानियां हमने बहुत पढ़ी, सुनी और देखी है ज्यादातर प्रेम कहानियां स्कूलों में,कॉलेजों में और ऑफिस में शुरू होती है पर यह प्रेम कहानी बेगानी है, जो एक बेगाने मोड़ पर शुरू होती है। यह दास्तां है विराट सिंह की जिसमें विराट एक बेगानी लड़की की मदद करता है उसको एक नई जिंदगी देता है बिना उसके बारे में कुछ जाने अपना सब कुछ उसके नाम का देता है पर जिस दिन विराट उस लड़की से अपने दिल की बात कहने वाला था उसी दिन वह लड़की गायब हो जाती है। वह लड़की कहां गायब होती है किसी को पता नहीं चलता। कुछ महीने बाद वह लड़की विराट की जिंदगी में वापस आ जाती है पर इस बार वह लड़की बदली हुई थी जो लड़की पहले हंसते खेलते रहती थी अब वह खोई खोई रहती थी उसके अंदर किसी बेगानी रूह ने प्रवेश कर लिया था। आखिर कहां गायब हो गई थी वह लड़की और क्या रिश्ता था उसका विराट से जो हर बार वह विराट को ही मिलती थी विराट कैसे बचाएगा उस बेगानी रूह से उस लड़की को जिसका उसे नाम तक नहीं पता। जहां असल दुनिया में जिस्मों के मिलाप को ही प्रेम समझा जाता है यह कहानी ठीक उसके विपरीत है। कहानी पढ़ने के बाद आप बेगानी रूहों से भले ही ना डरे पर प्यार करना जरूर सिख जाएंगे।

Anand Usha Borkar

0 Following 0 Followers

Anand usha borkar was born in Bhopal. He is pursuing mechanical engineering from UIT RGPV, he believes in innovations.He always follows his dreams and passion... So, he started writing novels and his first novel is Bewajah... ek qurbani that creates an impact on mind of readers.He is engaged in social work and recently  working with NSBM Dishanjali Education and Welfare Society.After following his dreams finally he won the "100 Inspiring Author of India by Indian awaz and top 100 debut author by Team LiteraturesLight for Bewajah ek kurbani.Being a Co author he wrote "Kaviyo ka manthan", "Zindgi ek safar", "Band lifafe", Zindgi ek safar 2 and the paining thought.

Number of Chapter in बेगानी रूह! एक बेगानी प्रेम कथा

LrCfyIMYSjWFNM3a-3V28J7IBv1DMb2I.jpg

0 Followers

Similar Stories

बेगानी रूह! एक बेगानी प्रेम कथा

Anand Usha Borkar
14 0 0

Gulaabi

Harshad Molishree
129 0 1

The mysterious picnic

atharva1
121 0 1

The mysterious picnic

atharva1
133 0 0