Vivek Tariyal

हिंदी कविताओं, कहानियों एवं उपन्यासों में विशेष रूचि रखने वाले विवेक तड़ियाल मातृभाषा हिंदी के साहित्य मंच के नवोदित कवि एवं रचनाकार हैं। उत्तराखंड तकनीकी विश्वविद्यालय से एप्लाइड इलेक्ट्रॉनिक्स एवं उपकरण अभियांत्रिकी में स्वर्ण पदक प्राप्त विवेक तड़ियाल एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार) में तकनीकी अभियंता के पद पर कार्यरत हैं। प्रारंभिक शिक्षा केंद्रीय विद्यालय ऋषिकेश व रायवाला से पूरी करने के पश्चात उन्होंने देहरादून प्रौद्योगिकी संस्थान से अभियांत्रिकी की पढाई पूरी की। हिंदी भाषा के प्रति विशेष लगाव एवं संवेदनशीलता का कारण वह अपने माता-पिता, शिक्षकों, अग्रजों एवं मित्रों को मानते हैं जिन्होंने उनके अंदर के रचनाकार को पहचानने में उनका साथ दिया। विवेक तड़ियाल का मत है कि साहित्य समाज की संपत्ति है एवं रचनाकारों की कलम से निकलने वाली रचनाएँ समाज की आवश्यकता हैं। आज के समय में जहाँ हिंदी भाषा के प्रयोग को लेकर चिन्ताएँ व्यक्त की जा रही हैं वहीं विवेक तड़ियाल जैसे रचनाकार एक नए युग का उदय माने जा सकते हैं।

Poetry 594 Reads

उदय - एक नए युग का

"उदय - एक नए युग का" एक कविता संकलन है जिसमें जीवन के विभिन्न पहलुओं, देश प्रेम एवं सामाजिक मुद्दों पर कविताएँ लिखी गई हैं। प्रस्तुत काव्य संकलन की कविताओं के माध्यम से कवि लोगों के भीतर सोई पड़ी चेतना का आवाह्न करता है। इस काव्य संकलन की कविताएँ जहाँ एक ओर पाठक को प्रेरणा से भर देती हैं वही दूसरी ओर अनकहे सामाजिक मुद्दों के प्रति पाठक की अंतरात्मा को झकझोरती हैं। प्रस्तुत कविताएँ युवा वर्ग को देश के प्रति सजग एवं कर्मशील बनने हेतु प्रेरित करती हैं एवं उसके साथ ही मानव जीवन के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डालते हुए पाठक मन की भावनाओं को छूने का प्रयास करती हैं। कवि का विश्वास है कि कहीं न कहीं पाठक स्वयं को इन कविताओं से जुड़ा हुआ पाएगा। प्रस्तुत कविताएँ मात्र कवि मन की अभिव्यक्ति नहीं हैं अपितु समाज में बदलाव लाने हेतु एक प्रयास हैं। कविताओं में प्रयुक्त एक-एक शब्द समाज के बदलाव एवं मानव सभ्यता के पुनुरुत्थान को समर्पित है।

Share

Who is this book for?

प्रस्तुत काव्य संग्रह समाज के सभी लोगों हेतु है। कविताएँ भावनाओं की सरल, सहज एवं प्रभावशाली अभिव्यक्ति होती हैं। यह न केवल पाठक मन को मंत्रमुग्ध कर देती हैं अपितु पाठक को वांछित कर्म करते हेतु उत्साहित भी करती हैं। इस काव्य संकलन के माध्यम से कवि निराशावादी लोगों को आशा देना चाहता है, देश के युवा वर्ग को देश की बागडोर सँभालने हेतु जगाने का प्रयास कर रहा है एवं समाज पुनुरुत्थान हेतु लेखनी से निकले शब्दों को समर्पित करता है।

Why are you writing it?

कवि मन के भावों की सरल, सहज एवं प्रभावशाली अभिव्यक्ति ही कविताओं को लिखने का मूल उद्देश्य है। अपने विचारों एवं ह्रदय उद्गारों को शब्दों में पिरोने से मिलने वाली संतुष्टि एवं आत्मिक शांति ही मुझे निरंतर लिखने हेतु साहस और आशा प्रदान करती है। मेरा मत है कि साहित्य समाज की संपत्ति है और इसे जन-जन तक पहुँचाना हमारा उत्तरदायित्व है।

k5ZTPJE19S48E4v0y7pt1Mlgfq0dgp1m.jpg
BUY
  • 150 Pre-Ordered
  • 0 Days Left
Includes
  • Paperback Copy
  • Shipping

Pre-order price: 199.00