Autho Publication
keB_ERMHuLUs3QNtN1aFv5IJmy3ETANK.jpg
Author's Image

by

मुकेश सिंह

View Profile

Pre-order Price

199.00

Includes

Author's ImagePaperback Copy

Author's ImageShipping

Pre-Order Now

शब्दों की धार

Share Icon Icon
Heart Poetry Read 2 Reads

कविता केवल कवि मन की कल्पना नहीं है, अपितु ये कवियों के हृदय में समाहित भावनाओं का प्रतिरूप है। वास्तव में कविताएं समाज का आइना होती हैं। हरेक कवि आपनी रचनाओं से समाज में बदलाव की ज्वाला लिए क्रांति का आह्वान करता है।ठीक उसी प्रकार अन्य कवियों की भांति मेरी भी यह छोटी सी चेष्टा "शब्दों की धार" समाज में आवश्यक परिवर्तन के लिए क्रांति का आह्वान करती है। यहां हमें पूर्ण विश्वास है कि हमारी यह चेष्टा (काव्यसंग्रह)"शब्दों की धार" आपके रूह तक उतर जाएगी।

Who is this book for?

For the poetry lovers and for the Each & every Indian.

Why are you writing it?

To revive the spirit of revolution for change in society